तुम फिरका-फिरका खेलो, इस्लाम की शिक्षा ध्रुव गुप्त दे रहे है





दुनिया की हर फिज़ा में उजाला रसूल का !
सामाजिक कार्यकर्ता तथा फेसबुक के दिग्गज ध्रुव गुप्त ने मुहम्मद पैगम्बर (सल्ल) की सीरत के बारे में बाहुत ही प्यारा सा लेख लिखा है और हमारे मुस्लिम भाई फिरका-फिरका खेलने में मग्न है. फिरका-फिरका करने वालो को चुल्लू भर बानी में डूब मरना चाहिये. समझदार लोग तो शर्म से ही मर जायेंगे- संपादक

'संसार में ऐसा व्यवहार करो जैसे आप सदा सदा के लिए यहीं रहोगे और अमरत्व की तैयारी ऐसे करो कि जैसे कि आप कल ही मर जाने वाले हो।'
'बिना आस्था के आप स्वर्ग में प्रवेश नहीं कर सकते। आस्था आप तब प्राप्त करोगे जब एक दूसरे से प्रेम करोगे।'
'यह समूची सृष्टि अल्लाह का परिवार है। अल्लाह की नज़र में उत्तम वह है जो उसके परिवार से भला सलूक करे।'


'अल्लाह उनके प्रति रहमदिल कभी नहीं होगा जो दूसरे लोगों के प्रति रहमदिल नहीं हैं।'
'जिसने एक मानव की हत्या की, उसने गोया पूरी मानवता की हत्या की। जिसने एक मनुष्य को बचा लिया, उसने समूची मानवता को बचा लिया।'
'अल्लाह उस कौम को पवित्र नहीं मानता जिस कौम में कमज़ोरों के अधिकार सुरक्षित न हों !'
'मुसलमान वह है जिसके हाथ और ज़ुबान से दूसरे लोग महफ़ूज रहें।'
'धर्म वहीं है, जहां कोई बाध्यता नहीं है। आप दूसरों का मार्गदर्शन नहीं कर सकते। अल्लाह चाहे तो कर सकता है।'

loading...

'किसी कौम की दुश्मनी आपको इस बात पर आमादा न कर दे कि आप उन लोगों के साथ अन्याय करने लग जाओ ! हर एक के साथ इन्साफ करो चाहे वह दूसरे मज़हब का मानने वाला ही क्यों न हो !'
'अगर किसी मुसलमान ने काफिर पर ज़ुल्म किया तो मै क़यामत के दिन उस मुसलमान के विरुद्ध काफिर का वकील बनकर खड़ा होऊंगा और उसे इन्साफ दिलाऊंगा !'
सरकार की आमद मरहबा ! सभी मित्रों को मानवता, प्रेम, अमन, भाईचारे के संदेशवाहक पैगंबर हज़रत मोहम्मद साहब का जन्मदिन ईद-ए-मिलाद-उन-नबी मुबारक़ !

loading...