मौलाना नोमानी की बदनाम करने की साजिश या और कुछ .......?

बामसेफ प्रशांत निकम नाम से एक्टिव फेसबुक आईडी द्वारा एक विवादित पोस्ट वायरल हो रहा है. जिस पोस्ट के चलते मौलाना सज्जाद नोमानी जो मुस्लिम पर्सनल लो बोर्ड के सदस्य है उनको परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. यह पोस्ट वायरल होने के बाद इस पोस्ट पर सैकड़ो लोगो के लाइक आये है और कई कमेंट्स भी जिसमे "जय मूलनिवासी" शब्द का इस्तेमाल किया गया है. जबकि इस्लाम आलमी भाईचारे को मानता है. इस पोस्ट में इस्लाम के खिलाफ लिखा गया बयान मौलाना सज्जाद नोमानी ने ही दिया है या नहीं इसकी कोई पुष्टि नहीं हो पाई है. कुछ लोगो का मानना है की, चारो तरफ इस्लाम को मानने वालो को बदनाम करने की कोशिस बड़े पैमाने पर चल रही है और इसमें ओलेमाओ को किसी ना किसी बहाने टार्गेट किया जा रहा है. इस पोस्ट में लिखा गया बयान नमाज के तरीके को बदलता है. जबकि इस्लाम मुकम्मल है. इसमें कोई बढ़ोतरी की जा सकती है ना कोई कमी... ऐसे बयान तो इतने बड़े ओहोदे पर रहे मौलाना सज्जाद नोमानी तो दे नहीं सकते यह बयान को वायरल कर मुसलमानों को उनके खिलाफ खडा करने की साजिश होने की संभावना है.



क्या है पोस्ट ?
बामसेफ प्रशांत निकम
November 14 at 3:42pm · 
“हम अल्पसंख्यांक नहीं है। मै इस शब्द को भी छोड देना चाहता हूँ जैसे मैने #हिंदुस्थान इस शब्द का त्याग किया है। #हिंदुस्थान शब्द भी मुझे बामसेफ से जुडने के बाद ही समझ में आया है। मै सभी मुस्लिमों को कहना चाहता हूँ के वे नमाज के बाद कम से कम ग्यारह बार #भारत शब्द का उच्चारण करें, ताकि #हिंदुस्थान नाम गलती से भी उनकी जुबानपर ना आये।”
मा.सज्जाद नोमानी सहाब(सदस्य, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड)



साजिश करने वाले लोग किसीके भी खिलाफ साजिश कर सकते है, हो सकता है कल यह लिंक डिलीट किया जाएगा इसलिए लिंक के साथ आपको स्क्रीन शोर्ट भी दे रहे है.