इंसानियत शर्मसार, बोर्डिंग के 12 छात्राओं से बलात्कार,

मुंबई। महाराष्ट्र के बुलधाना बोर्डिंग स्कूल से कई आदिवासी बच्चियों के साथ यौन शोषण की शर्मनाक घटना सामने आई है। 13 साल की एक मासूम बच्ची के प्रेग्नेंट होने के बाद इस मामले का खुलासा हुआ। पुलिस ने इस मामले में आश्रम के 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। जिनमें 7 टीचर भी शामिल हैं। 

घटना बुलधाना के खामगांव की है। यहां स्थित एक बोर्डिंग स्कूल में कई बच्चियों के यौन शोषण की खबर से इलाके में हड़कंप मच गया। दरअसल मामले का खुलासा तब हुआ जब स्कूल में रह रही पीड़ित नाबालिगों में से एक 13 साल की लड़की दिवाली की छुट्टी पर अपने घर गई थी। इसी दौरान एक दिन अचानक लड़की के पेट में दर्द हुआ। परिवार वाले उसे डॉक्टर के पास ले गए। डॉक्टरों ने लड़की के प्रेग्नेंट होने की जानकारी दी। इस बारे में जब परिवार के लोगों ने लड़की से पूछताछ की तो पूरा मामला सामने आया।



खबर है कि इस बोर्डिंग स्कूल में कई महीने से कई लड़कियों से रेप हो रहा था जिसके बाद रेप का शिकार हुईं 3 लड़कियां प्रेग्नेंट बताई जा रही हैं। महाराष्ट्र के डीजीपी ने इस मामले में एसआईटी गठित कर जांच के आदेश दिए हैं। पुलिस का कहना है कि स्कूल के और टीचरों से पूछताछ हो रही है।

पुलिस ने कहा कि अभी तक एक मामले में शिकायत मिली है, जिसमें मुकदमा दर्ज किया गया है। लेकिन स्थानीय लोगों का कहना है कि ये संख्या ज्यादा है। पुलिस का कहना है कि गिरफ्तार आरोपियों में से मुख्य आरोपी एक सफाई कर्मचारी है, जबकि शेष को अपराध की जानकारी न देने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। 



पुलिस का कहना है कि अभी पुख्ता तौर पर ये नहीं कहा जा सकता है कि रेप की शिकार नाबालिग लड़की गर्भवती है या नहीं। इस मामले में मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार है। लोगों का कहना है कि स्थानीय स्तर पर पुलिस ने मामले को दबाने की कोशिश की थी। लेकिन जब ये मामला बड़े अधिकारियों के संज्ञान में आया तो कार्रवाई शुरू हुई।

इस घटना के सामने आने के बाद एनसीपी नेता ने सीएम देवेन्द्र फडणवीस से इस्तीफा मांगा है। एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा, ''बोर्डिंग स्कूल की लड़कियों के साथ रेप की घटना शर्मनाक है। कुछ के प्रेग्नेंट होने की भी खबर है। महिला एवं बाल कल्याण मंत्री पंकजा मुंडे और मुख्यमंत्री फडणवीस को नैतिक आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए।''



वहीं राष्ट्रीय महिला आयोग की पूर्व प्रेसिडेंट ममता शर्मा ने कहा, ''महाराष्ट्र सरकार को इस मामले में फौरन कार्रवाई करनी चाहिए, ताकि गुनहगारों को सजा मिल सके। महाराष्ट्र में लड़कियों के प्रति अपराध के कई मामले सामने आ रहे हैं। लेकिन रेप का मामला बेहद गंभीर है, वो भी बोर्डिंग स्कूल में।''