शर्मनाक: दलित निष्पाप युवती संग गैंगरेप, फिर ज़िंदा जलाया

इलाहाबाद। देश में दलितों और महिलाओं पर हत्या और बलात्कर कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। रोज कहीं न कहीं से ऐसी खबरें सुनने को मिल जाएंगी। ताजा मामला यूपी के कौशाम्बी जिले का है। जहां एक दलित किशोरी की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई। यूपी के कौशाम्बी जिले में एक दलित किशोरी को दुष्कर्म के बाद जिंदा जला दिया गया। चीख पुकार सुनकर लोगों ने उसे अस्पताल पहुंचाया जहां देर रात उसने दम तोड़ दिया। 

कौशाम्बी जिले के कोखराज थाना क्षेत्र के सिंघिया बाजार में मंगलवार की रात्रि घर से बाहर निकली एक दलित किशोरी को कुछ लोगों ने पकड़ कर रेप किया। इसके बाद केरोसिन डालकर किशोरी को आग के हवाले कर दिया। सनसनीखेज घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी भाग निकले। उधर, किशोरी के चीखने की आवाज सुनकर भीड़ लग गई। परिजन जब तक पहुंचते, तब तक वह काफी जल चुकी थी। कुछ देर में किशोरी की मौत हो गई। 



मंझनपुर कोतवाली के मलकिया गांव निवासी अमर (काल्पनिक नाम ) करीब 20 साल से कोखराज थाने के सिंघिया गांव में मकान बनाकर परिवार के साथ रहते हैं। जबकि उनका बड़ा बेटा इलाहाबाद में पत्नी के साथ रहता है। मंगलवार को अमर अपनी पत्नी के साथ मलकिया गांव में खेती देखने के लिए गये थे। अमरनाथ के घर के पास ही देवी जागरण हो रहा था। बताते हैं कि रात करीब 11.30 बजे उनकी लगभग पंद्रह वर्षीय बेटी घर से लघु शंका के लिए बाहर निकली। इसके बाद घर के समीप स्थित खेत में वह आग का गोला बनी मिली।



उसकी चीख-पुकार पर गांव के लोग मौके पर पहुंचे। उसी समय गांव में गश्त कर रहे सिंघिया चौकी प्रभारी पंधारी सरोज को जब खबर मिली तो वह मौके पर पहुंचे। पुलिस ने किसी तरह आग बुझाकर शिम्पी को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहाँ उसकी हालत नाजुक होने पर डॉक्टरों ने इलाहाबाद एसआरएन के लिए रेफर कर दिया। एसआरएन अस्पताल में देर रात शिम्पी की मौत हो गई। 



घटना के पीछे गैंगरेप के बाद हत्या की बात सामने आ रही है। पुलिस को बुधवार की शाम तक तहरीर नहीं मिल सकी थी। पुलिस का कहना है कि किशोरी के घर के पास ही केरोसिन का एक गैलन मिला है। गैलन से काफी तेल निकला था। गैलन के पास ही एक ग्लास भी पड़ा था। उसमें भी तेल था। माना जा रहा है कि इसी तेल से शिम्पी को जलाया गया होगा।(नेशनल दस्तक से)