चारो तरफ से घिर रहे मुसलमान, आखिर क्यों ?

बिजनौर। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तिहाद-उल-मुस्लिमीन चीफ असदुद्दीन ओवैसी को बिजनौर दौरे की परमिशन न मिलने के बाद पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष हाजी शौकत अली के आदेशानुसार प्रदेश के सीनियर लीडर हामिद संजरी साहब एवं प्रदेश अध्यक्ष दिल्ली इरफानुल्लाह खान के आदेशानुसार बलीग़ नोमानी जॉइंट सैक्रेटरी दिल्ली ने बुधवार ज़िला बिजनौर का दौरा किया। जहाँ वह ज़िला अस्पताल में घायलों से मुलाक़ात की और आश्वासन दिया कि पूरी मजलिस की टीम आपके साथ है।



हामिद संजरी ने अपने बयान में कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार मुस्लिम समाज के साथ ख़ून की होली खेल रही है। यूपी में जब से समाजवादी की सरकार बनी है मुस्लिम समाज को निशाना बनाया जा रहा है। ऑल इंडिया मजलिस इत्तिहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रिय अध्यक्ष जनाब बैरिस्टर असदुद्दीन ओवैसी बिजनौर आना चाहते थे मगर समाजवादी के इशारों पर प्रशासन ने आने की अनुमति नही दी। सपा और भाजपा के नेता आ सकते हैं मगर ओवैसी साहब क्यों नही? ओवैसी के आने से मुलायम सिंह यादव की नींदें हराम हो गई है। 2017 में समाजवादी का खात्मा होगा,बलीग़ नोमानी ने कहा कि अगर परिजनों को इन्साफ नही मिला तो दिल्ली के जंतर मंतर पर भी प्रदर्शन कर आवाज़ उठाई जाएगी। उत्तर प्रदेश के मुस्लिम और दलित समाज की हालत जानवरो  से भी बदतर है।



उन्होंने बताया कि ज़िला बिजनौर में घायलों को सही उपचार नही मिल रहा, 1-1 बेड पर 2 मरीज़ लिटा रक्खे हैं,बेड की चादरें गन्दी पड़ी हैं,मरीजों के साथ बदसुलूकी की जा रही हैं, AIMIM की टीम ने जाकर डांट लगाई,जब जाकर कर्मचारी काम पर लगे। इस मौके पर दिल्ली से आरिफ़ सैफी,अरशद खान,ज़र्रार हुसैन और बिजनौर से हकीम हाफ़िज़ अब्दुस सलाम खान,इकराम शाह,ताज़ीम सिद्दीकी,वसीम अहमद,बिलाल अहमद,मौ. वसीम जाकीर राईनी,साजिद आदि मौजूद रहे।
(वोटरगिरी से)