बीएसएनएल का धमाका, 83 पैसे में 1 जीबी डेटा

नई दिल्ली: अंबानी के लुभावने 4 जी इंटरनेट सर्विस की लांचिंग के एक दिन बाद ही बीएसएनएल ने रिलायंस और उसके पोस्टर बॉय पीएम नरेन्द्र मोदी को तगड़ा झटका देते हुए मात्र 249 रूपये के मासिक पर 300 जीबी डेटा अपने लैंडलाइन ब्रॉडबैंड ग्राहकों को देने का ऐलान कर सनसनी मचा दी है। कंपनी ने ऐलान किया है कि इस तरह एक रूपये प्रति जीबी से भी कम रेट पर उपभोक्ता इंटरनेट सेवा का लाभ ले सकेंगे। इस तरह धमाकेदार ऐलान कर इस सरकारी कंपनी ने न केवल रिलायंस को करारा जवाब दिया है, बल्कि उसके पोस्टर बॉय की भूमिका में नजर आने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी संकट में डाल दिया है।


कंपनी ने एक बयान में कहा है कि नौ सितंबर से बीबी 249 प्लान पेश करेगी. इस प्लान में ग्राहक बिना डेटा लिमिट की चिंता के जितना चाहे ब्राडबैंड डेटा डाउनलोड कर सकते हैं और इसमें 2एमबीपीएस की स्पीड होगी. इसके अनुसार, अगर ग्राहक इस प्लान को लगातार एक महीने इस्तेमाल करते हैं तो वे 249 रुपये में 300 जीबी डेटा इस्तेमाल कर सकते हैं. इस तरह से प्रति जीबी डेटा डाउनलोड की कीमत एक रुपये प्रति जीबी से भी कम रहेगी.


रिलायंस के विज्ञापन में पोस्टर बॉय की भूमिका निभाने वाले प्रधानमंत्री का इस तरह किसी प्राइवेट कंपनी की सर्विस को प्रमोट करने से मोदी की जमकर आलोचना हो रही है। रिलायंस के साथ खड़े मोदी से इन आषंकाओं को जन्म मिल रहा था कि कहीं यह जुगलबंदी सरकारी टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल के लिए खतरे की घंटी तो नहीं है? लेकिन जिस तरह से बीएसएनएल ने अंबानी को करारा जवाब देते हुए नया ऐलान किया है उससे इतना तो तय है कि यह सरकारी कंपनी रिलायंस की बाजार पर एकाधिकार की शातिराना कोशिशें इतनी जल्दी फलीभूत होने वाली नहीं हैं। यह भी सच है कि रिलायंस जैसी कंपनियों के निशाने पर बीएसएनएल जैसी सरकारी नियंत्रण वाली कंपनियां ही पहले हैं। अंबानियों को लगता है कि मोदी की पीठ पर सवार होकर इस तरह बीएसएनएल जैसी कंपनी को घुटने टेकने पर मजबूर कर उसके नेटवर्क पर कब्जा कर दिया जा। मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो के प्रचार अभियान में पोस्टर ब्वाय के तौर पर दिखने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी क्या अब सरकारी स्वामित्व वाली टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल के लिए भी उसी भूमिका में नजर आएंगे, जिस तरह वे अंबानी की खिदमत में पेश आए हैं?