देश में इंसानों के रहने के लिए जगह नहीं है -किरण यादव

किरण यादव


हिन्दुस्तान में तीन साल से गाय, रामजादे, हरामजादे, तीन तलाक, करारा जवाब, में रह गया यदि यह भी काम किया होता तो चलो कुछ तो किया लेकिन यह भी काम नहीं किया, तीन साल में कमजोर महिला के साथ रसलीला की, भारतीय जनता पार्टी वाले और कोई काम नहीं किया हिन्दुस्तान में हर बीमारी की सही इलाज हैं लेकिन उसके लिए डॉक्टर में आत्मविश्वास की जरुरत हैं कुछ न्यूज चैनल को छोड़ सबके सब सबके सब झूठ खबर रात दिन चला रहे हैं, 

हिन्दुस्तान में इंसान के रहने के लिए जगह नहीं है आप सब जानते हैं सड़क पर सोते है इंसान उस पर कोई शराब के नशे में गाडी चढा देता है, हिन्दुस्तान में क्या जानवर से भी कम कीमत है इंसान का हिन्दुस्तान में मूर्ख गदहा, अनपढ़, झूठा भ्रष्ट प्रधानमंत्री हैं इसे विकास के बारे में कुछ आता पता नहीं!
नोट : लेखिका के निजी विचार हैं, सोशल डायरी का कोई सरकार नहीं है|