खुदगर्ज निकला बच्चन परिवार, अरबो की संपत्ति ले जाएगा साथ ?

बच्चन परिवार बॉलीवुड का सबसे जाना माना परिवार है पूरी दुनिया में बच्‍चन परिवार का नाम है। कामयाबी और शोहरत का जो सफर हरिवंश राय बच्चन ने शुरू किया था, उसे अमिताभ बच्चन ने आगे बढ़ाया इतना ही नहीं इसे और भी कई नए आयाम दिए। शोहरत की इस विरासत को अभिषेक और ऐश्वर्या बखूबी आगे बढ़ा रहे हैं।

बच्‍चन परिवार के इन चेहरो को तो आप जानते होंगे लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं बच्चन परिवार से जुड़े उन लोगों के बारे में जो तंगहाली में अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं।


वैसे तो बच्चन परिवार की गिनती बॉलीवुड के रॉयल घरानों में की जाती है। यह बेहद अफसोस की बात है कि जहां एक तरफ बिग बी और उनका परिवार अरबों की संपत्ति का मालिक है, तो वहीं इस परिवार का एक हिस्सा अंधेरे में अपनी ज़िदंगी काट रहा है।


गरीबी के दौर से गुजर रहे इस परिवार के सामने दो जून की रोटी का संकट है, लेकिन इनकी कोई सुध लेने वाला नहीं है। जहां एक तरफ बच्चन परिवार करोड़ों की संपत्ति का मालिक है, तो वहीं दूसरी तरफ बच्चन परिवार के ये रिश्तेदार, चंद पैसों के लिए भी मोहताज हैं। मृदुला ने बताया कि उनके सास ससुर के देहांत के बाद, बच्चन परिवार से पूरी तरह उनका रिश्ता टूट गया। जब तक उनके ससुर जिंदा थे, तब तक बाबू जी का खत वगैरह आता था और गाहे-बगाहे आना जाना भी लगा रहता था।


इस परिवार ने बताया कि  आखिरी बार अभिषेक बच्चन की शादी में कार्ड आया था, लेकिन पैसों की तंगी की वजह से वो शादी में शरीक नहीं हो सके। साथ ही दिल में ये डर भी था कि पता नहीं अब बच्चन परिवार उन्हें पहचानेगा या नहीं।


अनूप और मृदुला की दिली ख्वाहिश थी कि इस पुश्तैनी मकान में अमिताभ बच्चन म्युजियम या स्कुल बनवा दें। जिससे हरिवंश राय बच्चन की यादें यहां हमेशा ज़िंदा रहे, लेकिन अमिताभ बच्चन ने इस ओर कभी रूख नहीं किया। अपनी पुश्तैनी चीज़ों और रिश्तों से इस तरह मुंह मोड़ लेने की वजह से ये लोग, बच्चन परिवार से बहुत नाराज़ हैं। इन लोगों ने बच्चन परिवार की एक-एक चीज़, एक-एक याद को संजो कर रखा था। अब धीरे-धीरे ये लोग उन यादों से मुंह मोड़ रहे हैं।


डॉ. हरिवंशराय बच्चन की सगी बहन, भगवान देवी के पोते अनूप और उनकी पत्नी मृदुला, गरीबी की जिंदगी जीने को मजबूर हैं। ये लोग डॉ.बच्चन के ही कटघर स्थित मकान के एक हिस्से में अपने दो बच्चे, आर्यन और अंशिका के साथ रहते हैं।


इनका कहना है कि जब बच्चन परिवार इनसे कोई ताल्लुक नहीं रखना चाहता तो अब ये भी उनकी यादों से दूर होकर अपनी ज़िदंगी जीना चाहते हैं। बुरा लगता है तो बस इस बात का, सालभर यहां लोग बच्चन परिवार के इस पुश्तैनी मकान को देखने आते रहते हैं, लेकिन बच्चन परिवार कभी सुध लेने नहीं आता।(नमनभारत से)