INDIAN ARMY के जवान के टुकड़े-टुकड़े कर भागा आतंकी

LOC: PAKISTAN समर्थित आतंकियों ने एक बार फिर शहीद हेमराज प्रकरण को दोहराते हुए एक शहीद जवान के शव को क्षत-विक्षत कर दिया है। शुक्रवार को LOC के पास कुपवाड़ा के माछिल सेक्टर में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान ARMY का एक जवान शहीद हो गया।

मुठभेड़ के दौरान पाकिस्तानी गोलीबारी का फायदा उठाकर एक आतंकवादी ने शहीद के शव को क्षत-विक्षत कर दिया। सीमा पर इस बर्बरता ने दोनों मुल्कों के बीच तनाव में और भी इजाफा कर दिया है। इस बीच शनिवार को पाक ने एक बार फिर आरएस पुरा सेक्टर में फायरिंग शुरू कर दी है। 

भारतीय सेना ने एक बयान में इस बर्बरतापूर्ण कार्रवाई की जानकारी देते हुए बदला लेने की बात कही है। श्रीनगर में सेना के प्रवक्ता ने बताया कि पाकिस्तानी गोलाबारी की आड़ में एक आतंकी LoC पार कर भागने में सफल हो गया। उन्होंने कहा कि इस बर्बरतापूर्ण कार्रवाई का उचित जवाब दिया जाएगा। शहीद जवान की पहचान मंजीत सिंह के तौर पर हुई है। मंजीत 17 सिख लाइट इन्फैंट्री में तैनात थे। 



मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सेना ने पीएम, गृह मंत्री और रक्षा मंत्री को मामले की जानकारी दी है। ऐसा नहीं है कि पाकिस्तान की तरफ से पहली बार ऐसी बर्बरता को अंजाम दिया गया है। 2013 में भी कश्मीर के मेंढर सेक्टर में एक शहीद जवान लांस नायक हेमराज सिंह का सिर काटा गया था और दूसरे शहीद के शरीर को क्षत-विक्षत किया गया था। 

बाद में भारतीय सेना ने पाकिस्तान के इस कायरतापूर्ण कृत्य का बदला लिया था। सेना ने एलओसी पार कर तब इसका बदला चुकाया था। 29 सितंबर को उड़ी में भारतीय सेना पर आतंकी हमले के बाद सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था। इसके बाद से ही पाकिस्तान की तरफ से लगातार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर सीमा पार से फायरिंग की जा रही है।


इस दौरान भारतीय सेना ने पाक फायरिंग की आड़ में घुसपैठ की कई कोशिशों को नाकाम किया। शुक्रवार को ऐसी ही एक मुठभेड़ में सेना ने माछिल सेक्टर में एक आतंकी को मार गिराया। इस मुठभेड़ में जवान मंजीत सिंह शहीद हो गए। इसके बाद ही आतंकी ने घिनौने कृत्य को अंजाम दिया। पाकिस्तानी सेना इस दौरान आतंकी को कवर फायर दे रही थी। इसी फायरिंग की आड़ में आतंकी भागने में भी सफल रहा।

बीएसएफ ने जानकारी दी थी कि पाकिस्तानी गोलीबारी का माकूल जवाब दिया जा रहा है। बीएसएफ के मुताबिक जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी रेंजर्स के करीब 15 जवान मारे गए। इसके बाद ही पाकिस्तान समर्थित आतंकियों ने हेमराज घटना की पुनरावृत्ति की है। सीमा पार से लगातार हो रही फायरिंग की वजह से सीमा से सटे इलाकों में दहशत का माहौल है। मेंढर, सांबा और कई सीमावर्ती इलाकों से लोग पलायन कर रहे हैं।(LIVEINDIA.LIVE से साभार)