21 अगस्त को नांदेड के पीर बुरहान मैदान में रिहाई मंच करेगा दलित-मुस्लिम विरोधी हिंसा के खिलाफ रैली

रिहाई मंच प्रवक्ता शाहनवाज आलम करेंगे अध्यक्षता
22 अगस्त को होगी यूनिट बैठक, महराष्ट्र के विभिन्न जिलों से शामिल होंगे लोग

लखनऊ 16 अगस्त 2016। दलितों, मुसलमानों और कमजोर तबकों के खिलाफ बढ़ती नीतिगत हिंसा के खिलाफ रिहाई मंच महाराष्ट्र में एक मजबूत राजनीतिक आंदोलन की शुरूआत करने जा रहा है। मंच 21 अगस्त को नांदेड में होने वाली रैली और 22 अगस्त को महराष्ट्र यूनिट के गठन के साथ ही महाराष्ट्र में दलितों और मुसलमानों को एक प्लेटफाॅर्म पर लाकर दोनों समुदायों की राजनीतिक लड़ाई को नई दिशा देगा।



रिहाई मंच द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में मंच के लखनऊ इकाई के प्रवक्ता अनिल यादव ने कहा है कि महाराष्ट्र की जनता के निमंत्रण पर 21 अगस्त को नांदेड के पीर बुरहान नगर स्थित मैदान में होने वाली महाराष्ट्र यूनिट की स्थापना रैली को मंच के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज आलम सम्बोधित करेंगे। जिसके दूसरे दिन 22 अगस्त को वीआइपी रेस्ट हाउस में महाराष्ट्र के विभिन्न जिलों से आने वाले समर्थकों के साथ होने वाली बैठक में यूनिट के पदाधिकारियों की घोषणा की जाएगी। इस दौरान शाहनवाज आलम रैली के संयोजक और दैनिक सोशल डायरी के सम्पादक अहमद कुरैशी के पत्र के विशेष अंक का विमोचन करेंगे।



अनिल यादव ने बताया कि शाहनवाज आलम महाराष्ट्र के विभिन्न हिस्सों से पिछले दिनों आतंकवाद के नाम पर फंसाए गए बेगुनाहों के परिजनों से भी मिलेंगे और उनके सवाल को वहां की यूनिट के नेतृत्व   में मुख्यधारा के राजनीतिक मुद्दे के बतौर स्थापित करने की रूप रेखा बनाएंगे। उन्होंने कहा कि मंच महाराष्ट्र की दलित, मुसलमानों और कमजोर तबकों को एक नए राजनीतिक विकल्प देने की योजना के साथ वहां अपना विस्तार कर रहा है क्योंकि परम्परागत अम्बेडकरवादी संगठनों ने जहां अपने को हिंदुत्ववादी शक्तियों के हवाले कर दिया है वहीं मुस्लिम सियासी दल मुसलमानों का सिर्फ भावनात्मक दोहन ही कर रहे हैं। जिसके चलते इन दोनों पीड़ित समुदायों में घोर निराशा है। उन्होंने कहा कि रैली के संयोजक अहमद कुरैशी के नेतृत्व में जिस तरह विभिन्न समुदायों के नेतृत्वकर्ताओं को रैली की सफलता के लिए पिछले एक माह से चलाए जा रहे जनअभियान को लोगों का समर्थन मिल रहा है वह महाराष्ट्र के अवसरवादी दलित और मुस्लिम राजनीति के खिलाफ जनता के गुस्से को जाहिर करता है। उन्होंने कहा कि इस जनाक्रोश को रिहाई मंच नई राजनीतिक दिशा देगा। 



भारत में दलित-मुस्लिम विरोधी हिंसा की वारदातों में काफी वृद्धि हो रही है. और अन्याय से ओबीसी भी बचा नहीं,  पर दि. 21 अगस्त 2016 को महाराष्ट्र के नांदेड में रिहाई मंच द्वारा आयोजित महारैली में उपरोक्त विषयो पर  महाराष्ट्र के अलग-अलग इलाको से आने वाले बुद्धिजीवी मान्यवर प्रबोधन करेंगे. कार्यक्रम की अध्यक्षता रिहाई मंच के राष्ट्रीय प्रवक्ता मा. शहनवाज आलम करंगे. प्रमुख उपस्थिति में नागपुर से मा. शरद यादव, नाशिक से मा. शेख लतीफ़ (सामाजिक कार्यकर्ता), लातूर से मा. मोहसिन खान (अध्यक्ष, स्वाभिमानी मुस्लिम विकास परिषद), परभणी से मा. एड. मिर्झा अफजल बेग, पूना से मा. शेख ताहेर (जेष्ठ साहित्यिक), नांदेड से मा. मौलाना मिबिं खान इनामदार (अध्यक्ष बैतूल माल कमिटी), मा. खमरचाउस अलजाबरी (प्रदेशाध्यक्ष, जनहित भ्रष्टाचार निर्मूलन अभियान) औ मा. अजहर खान (सामाजिक कार्यकर्ता) उपस्थित रहेंगे. इस कार्यक्रम में महाराष्ट्र के कई बुद्धिजीवी मान्यवर शामिल होंगे. दि. 21 अगस्त को शाम 06 बजे से रात 11 बजे तक महारैली कार्यक्रम मेन सिटी, वर्कशॉप कार्नर पीर बुरहान नगर मैदान, नांदेड इस स्थान पर होगा. दी. 22 अगस्त को विआईपी रेस्ट हाउस हॉल में रिहाई मंच की महाराष्ट्र कार्यकारिणी का गठन किया जाएगा. इस कार्यक्रम में हजारो की संख्या में उपस्थित रहने का आवाहन दैनिक सोशल डायरी के संपादक तथा सामाजिक कार्यकर्ता अहेमद कुरेशी, शेख जावेद, प्रकाश खाडे, अब्दुल रउफ, बालाजी जोगदंड, इन्होने किया है. इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए शेख इमरान, अहेमद बाग़वाले, शेख बबलू, शेख अफसर अहेमद, संदीप काम्बले, शेख सलीम परिश्रम ले रहे है.