औकात में रहे म्यानमार और हिंसा रोके - चीन कि धमकी


loading...


म्यांमार में हिंसा को लेकर सयुंक्त राष्ट्र्य में चीन के बोल बदल गए हैं , रोहिंग्या मुस्लिम आतंकवादियों के खिलाफ म्यांमार की सैन्य कारवाही को उचित टेहराने वाले चीन में सयुंक्त राष्ट्र्य सुरक्षा परिषद् ने म्यांमार के हिंसा पर चिंता जताई है ! सुरक्षा परिषद् के साथ ही सयुंक्त राष्ट्र्य महासचिव अन्द्रेयु न्यू गुतेरस ने भी म्यांमार की हिंसा पर चिंता जताते हुए वहां पर जल्द ही शांति स्थापित होने की आवयश्कता जताई है !

हिंसाग्रस्त म्यांमार में अभी तक 4 लाख रोहिंग्या मुसलमान भाग कर बांग्लादेश पहुँच चुके हैं ! गोतेरस ने कहा म्यांमार के रखायेंन प्रांत की दशा अल्पसंख्यक मुक्त बनाने की मूलवासियों की इच्छा को प्रदर्शित करती है ! अभी तक म्यांमार की एक तिहाई से जादा अल्पसंख्यक आबादी देश छोड़कर वहां से भाग चुकी है इसलिए म्यांमार सरकार सेना की करवाई रोके , हिंसा को ख़तम कराये ,कानून का राज्य स्तापिथ करे ,उन लोगो की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करे जो हिंसा के चलते देश छोड़ गए हैं !

गोतेरस ने बताया की उन्होंने म्यांमार की नेता आंग सांग सू से बात की है , म्यांमार सरकार के हिसाब से 25 अगस्त को रोहिंग्या आतंकवादियों के सुनिश्चित हमलों के खिलाफ जब सुरक्षा दलों ने जवाबी करवाई की तो आतंकियों ने आम जनों को ढाल बनाया इसी के चलते वहां पर हालात बिगड़ गए जबकि पीड़ित लोगो को कहना है की सेना ने सीधे उनके खिलाफ कारवाई की…..
आगे देखिये विडियो में चाइना ने क्या कहा 

loading...