UPDATE : झारखण्ड हत्याकांड में मुसलमानों के साथ पिछड़े भी, कट्टरपंथी पिछडो को नहीं मानते हिन्दू ?

फाइल फोटो
सरायकेला(झारखंड)। झारखंड के दो अलग-अलग इलाकों में बच्चे चोरी की अफवाह पर भीड़ द्वारा करीब 7 लोगों की हत्या करने का मामला सामने आ रहा है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक राजनगर में गुरुवार की सुबह भीड़ ने चार लोगों की पीट-पीट कर हत्या की। इसके अलावा इनकी इंडिका कार को भी जला दिया गया। वहीं इसी प्रकार की दूसरी घटना देर रात जमशेदपुर के सटे नागाड़ी गांव में हुई। यहां भी भीड़ ने बच्चा चोरी के शक में तीन लोगों की हत्या कर दी। इनमें दो भाई बताए जा रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जमशेदपुर के घाघीडीह जेल के नजदीक बच्चा चोर होने के संदेह में भीड़ ने विकास वर्मा, गौतम वर्मा एवं गाड़ावासा के रहने वाले गंगेश कुमार गुप्ता को बेरहमी से पीट-पीटकर मार डाला। बच्चा चोर के साथ होने के संदेह में गौतम की 75 वर्षीया दादी रामसखी देवी को इतना मारा गया कि उनकी जान भी खतरे में है। जबकि दूसरी ओर सैकड़ों लोगों की भीड़ ने चार मुस्लिमों की पीट-पीटकर हत्या कर दी। मारे गए लोगों की पहचान नईम, खलील, फरजू और राजू के रूप में की गई है।

स्थानीय लोगों ने बताया कि गुरुवार की सुबह तीन बजे इंडिका और जायलो कार से लगभग 8 लोग शोभापुर गांव पहुंचे थे। शोभापुर से सटे गोपीनाथपुर के ग्रामीणों को इनकी गतिविधियां संदिग्ध दिखीं। इसके बाद गोपीनाथपुर और कमलपुर गांव में हल्ला हुआ कि बच्चा चोर गांव आए हुए हैं। दर्जनों लोग हथियारों से लैस होकर बच्चा चोर को खोजते हुए मुर्तजा अंसारी के घर पहुंचे। उनके घर की तलाशी ली। इस बीच जायलो गाड़ी पर सवार लोग किसी तरह गांव से भाग निकले, जबकि इंडिका कार में सवार 4 लोग गाड़ी छोड़कर आसपास छिप गए। एक व्यक्ति पास के शौचालय में छिपा हुआ था, जिसे ग्रामीणों ने पकड़ लिया और उसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी। इसके बाद सोसो और मोली गांव में छिपे 3 अन्य लोगों को भी ग्रामीणों ने पीट-पीट कर मार डाला।

मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी तिलेश्वर कुशवाहा की सरकारी गाड़ी को भी फूंक दिया। ग्रामीणों से झड़प में थाना प्रभारी समेत पांच अन्य पुलिसकर्मी घायल हो गए। थाना प्रभारी और सिपाही मनोज झा को गंभीर चोटें लगी हैं। जमशेदपुर से लगभग 40 किलोमीटर दूर राजनगर में यह घटना हुई है। घटना के बाद से इलाके में तनाव है। एसपी राकेश बंसल के आदेश पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिए गए हैं।

एडीजी, आईजी और एसपी को मौके पर भेजा गया पुलिस हेडक्वार्टर के सीनियर स्पोक्सपर्सन ने बताया कि इस घटना के बाद एडीजी ऑपरेशंस आरके मल्लिक, आईजी झारखंड जगुआर आरके धान और एसपी ऑपरेशंस संजीव कुमार को घटनास्थल पर भेजा गया है। साथ ही पर्यापत सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है।
बता दें कि पिछले सप्ताह भी जादूगोड़ा थाना क्षेत्र में बच्चा चोरी के आरोप में तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। (नेशनल दस्तक से साभार)