लड़की की कराई गई एक कुत्ते से शादी,कई बार हो चुके हैं ऐसे विवाह

दूल्हा बने कुत्ते के साथ बैठी लड़की की फाइल फोटो
रांची। शादी के बंधन को हर धर्म में पवित्र माना गया है, जिसे समाज की रीति-रिवाज और परंपराओं के साथ निभाया जाता है। लेकिन हर जगह ऐसा नहीं है। अंधविश्वास के चलते भारत के कुछ इलाकों में आज भी अजीब शादियां होती है। ऐसा ही एक मामला झारखंड की राजधानी रांची से 50 किमी दूर एक गांव में देखने मिला, जहां 18 साल की लड़की की शादी एक कुत्ते से करा दी गई।

सबसे विचित्र बात यह थी कि इस शादी के लिए लड़की से जोर-जबरदस्ती भी नहीं की गई, बल्कि लड़की खुद शादी के लिए तैयार थी। इस शादी में पूरा गांव इकट्ठा हुआ था। सभी ने नाच-गाना किया, रस्में निभाई गईं और उसके बाद कुत्ते को बाकायदा विदा कराकर घर लाया गया। इतना ही नहीं, शादी से पहले दूल्हा बना कुत्ता ‘शेरू’ भी आम दूल्हे की तरह कार में सवार होकर आया और लड़की के घर वालों सहित पूरे गांव ने उसका स्वागत भी किया।


क्यों कराई गई यह शादी
18 साल की मांगली मुंडा की शादी एक कुत्ते शेरू से इसलिए कराई गई क्योंकि गांव के एक बाबा ने मांगली के परिवार को कहा था कि आपकी बेटी में प्रेत है। बेटी की शादी किसी भी इंसान से कराने से पहले कुत्ते से करानी होगी। इससे बेटी के शरीर में बैठा प्रेत कुत्ते में प्रवेश कर जाएगा और फिर सब कुछ ठीक हो जाएगा। अगर ऐसा नहीं किया गया तो बेटी के भविष्य के साथ-साथ पूरा गांव तबाह हो जाएगा।

Nykaa CPV

परिवार ने बाबा की बातों में आकर बेटी की शादी शेरू नाम के कुत्ते से करा दी। इस शादी से जहां गांव वालों और मांगली के घर वाले खुश हैं, वहीं मुंगली भी काफी खुश है। उसका कहना है कि ‘वह कुत्ते से शादी करके खुश नहीं है, लेकिन अपने और परिवार के भविष्य को देखते हुए उसने ऐसा करना जरूरी समझा। मैंने यह शादी इसलिए की क्योंकि गांव के बुजुर्गों का मानना है कि ऐसा करने से प्रेत बाधा कुत्ते में चली जाएगी। ऐसा करने के बाद मैं किसी भी इंसान से शादी कर सुखी वैवाहिक जीवन बिता सकती हूं।’

Shoppersstop CPV

बुरे समय को दूर करने के लिए कराई शादी
मांगली के पिता अमन मुंडा भी इस शादी से खुश हैं। उन्होंने बाकायदा सड़क के कुत्ते ‘शेरू’ को चुना और अपनी बेटी मांगली से उसकी शादी करा दी। वे कहते हैं ‘ऐसा करने के पीछे गांव के बुजुर्गों का भरोसा था इसलिए हमने जल्द से जल्द शादी कराने की व्यवस्था की। हम सभी को भरोसा है कि ऐसा करने से प्रेत हमारा पीछा छोड़ देगा।’ वे कहते हैं ‘बेटी की कुत्ते से शादी सिर्फ बुरे समय को दूर करने के लिए कराई गई है।’


कई बार हो चुके हैं ऐसे विवाह
इस गांव में ऐसी विचित्र शादी पहली बार नहीं हुई बल्कि कई बार हो चुकी है। गांववालों का कहना है, ‘ऐसी शादियां पहले जब भी हुईं, गांव में खुशहाली आई है। कुत्ते से शादी करने से मांगली के भविष्य पर कोई असर नहीं पड़ेगा और अब वह किसी से भी शादी कर सकती है वो भी कुत्ते को बिना तलाक दिए।’ खुद मांगली कहती है, ‘मैंने खुद 4-5 ऐसी शादियां देखी हैं, जिसमें लड़कियों के आने वाले कल की बेहतरी के लिए उनकी कुत्ते से शादी कराई गई। मैं अब अपने पसंद के आदमी से शादी करने के लिए स्वतंत्र हूं।’ (समाचार इडिया डॉट कॉम से)