छत्तीसगढ़ से 14 वां ISI एजेंट अवधेश दुबे गिरफ्तार, देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप

ध्रुव सक्सेना के बाद लगातार ISI एजंटो की गिरफ्तारियां जारी है अबतक 14 एजंट गिरफ्तार किये गए है जिनपर देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है.
 छत्तीसगढ़ में आईएसआई की मदद करने के आरोप में पकड़े गए दो आरोपियों की निशानदेही पर उनके तीसरे साथी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्त में आए तीसरे संदिग्ध का नाम अवधेश दुबे है। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

बिलासपुर के एएसपी प्रशांत कतलम ने बताया कि अवधेश को बिलासपुर के मगरपारा इलाके से गिरफ्तार किया गया है। अवधेश दुबे पाकिस्तानी एजेंट रज्जन तिवारी का रिश्तेदार है। एएसपी ने बताया, रज्जन तिवारी को मध्य प्रदेश एटीएस ने गिरफ्तार किया था।



अवधेश को दो दिन पहले गिरफ्तार किए गए मनेन्द्र यादव और संजय देवांगन को रज्जन तिवारी से मिलवाया था। पुलिस ने इनके पास से मिलीं कई बैंकों की पासबुक, मोबाइल फोन और आधार कार्ड को जब्त कर लिया है। पुलिस को उम्मीद है कि आरोपियों से पूछताछ में कई और चौंकाने वाले खुलासे हो सकते हैं।

15 अप्रैल को देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के शक में मनेन्द्र यादव और संजय देवांगन को बिलासपुर से गिरफ्तार किया गया था, साधारण सी नौकरी करने वाले मनेन्द्र यादव और संजय देवांगन के बैंक एकाउंट में कई बार मोटी रकम ट्रांसफर की गई है जिससे ये पकड़ में आए हैं।

Shoppersstop CPV

ये रकम इनके अकाउंट्स के जरिए कुछ अन्य अकाउंट्स में ट्रांसफर कर दी गई, ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि गिरफ्त में आए आरोपी आतंकियों को फंडिंग करने वाले किसी बड़े गिरोह से जुड़े हुए हो सकते हैं। फिलहाल पुलिस इनके बैंक अकाउंट्स और उनके पहचान संबंधी दस्तावेजों को खंगालने में जुटी है. पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि इनके अकाउंट्स में रकम डालने वाले कौन लोग हैं और यह रकम आगे किसे ट्रांसफर की गई।

loading...