लोहार का काम करने वाली रेहाना शेख टॉपर, बनेगी IAS - शेयर करना न भूले


लोहार का काम करने वाले मुन्ना की मेहनत और उनकी बेटी रेहाना की जिद बेटियों को बोझ समझने वालों के लिए सबक है। पिता के साथ लोहा पीटने वाली रेहाना को 12वीं में 96 परसेंट मार्क्स मिले। कॉलेज टॉपर बनी। अब रेहाना चला आदर्श गांव की ब्रांड एम्बेसडर है। रेहाना अब तक पढ़ाई छोड़ चुकी 24 बेटियों को दोबारा शिक्षा से जोड़ चुकी है। लेकिन शून्य से शिखर तक का सफर आसान नहीं था।

Aliexpress INT

इसकी शुरुआत 20 साल पहले हुई जब मुन्ना लोहार और उनकी पत्नी जमीला चला में आकर बसे। उन्होंने यहां लोहे के औजार बनाने का काम शुरू किया। पाई-पाई बचाकर रेहाना का एडमिशन सरकारी स्कूल में कराया। रेहाना ने भी पिता की मेहनत जाया नहीं जाने दी। पढ़ाई में रात-दिन एक कर दिए। 2012-13 में 96 परसेंट मार्क्स के साथ 12वीं और 70 परसेंट मार्क्स के साथ कॉलेज टॉप किया। रेहाना अब प्राइवेट कॉलेज में अंग्रेजी से MA कर रही हैं। साथ ही, ब्रांड एम्बेसडर की जिम्मेदारी भी निभा रही है। गांव के सरपंच बीरबल काजला बताते हैं कि रेहाना ग्रामीणों को बेटियों को पढ़ाने के लिए प्रेरित करती हैं। हालांकि, इन सबके बीच अब भी रेहाना ने काम में पिता का हाथ बंटाना नहीं छोड़ा।

Rosewholesale.com INT

इतना ही नहीं रेहाना गांव की बहू और बेटियों को भी पढ़ाई से वापस जोड़ने में जुटी हैं। स्कूल छोड़ चुकी 24 बच्चियों को वापस स्कूल में एडमिशन दिला चुकी हैं। वहीं, गांव की बहुओं को आगे की पढ़ाई और प्रतियोगी परीक्षा करने के लिए प्रेरित कर रही है। गांव की 17 बहुएं रेहाना के साथ प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रही है।

alibaba.com INT

गांव की बेटी IAS बने, इसके लिए हाल ही में गठित हिमालय ट्रस्ट आर्थिक मदद करने को तैयार हुआ है। ट्रस्ट द्वारा रेहाना को दिल्ली या अन्य स्थान पर कोचिंग करवाई जाएगी। फिलहाल रेहाना इसी ट्रस्ट की नि:शुल्क कोचिंग संस्थान में तैयारी कर रही है। (लाइवन्यूज़ डॉट कॉम से)