ऐ मुसलमानों आप किंगमेकर हैं वोट बैंक नही ........!

जबसे सोशल मीडिया सक्रीय हुआ तबसे सभी बुद्धिजीवियों को अपने विचार बेबाक तरीके से बोलने का एक प्लेटफोर्म मिल गया, और हर एक बुद्धिजीवी अपने विचार लाखो लोगो तक आसानी से पहुंचा रहा है, सोशल मीडिया फेसबुक पर अपने विचार इन साहब ने रखे है जो कुछ सोचने को मजबूर करते है.. - संपादक

 बीजेपी का डर तो दिमाग से निकाल ही दीजिये, अगर आपके वोट बिखरे तब भी उसको बढ़त मिलनी है, आपके वोट सपा और बीएसपीको गए तब भी उसको बढ़त मिलनी है। मगर किसी मुस्लिम पार्टी के उम्मीदार को पड़े आपके वोट, उत्तर प्रदेश की सियासत में आपके कद को ऊँचा करेंगे, और दूसरी पार्टियों को एक सबक भी देंगे।
चुनाव से पहले सभी पार्टियां मुसलमानोँ को सब्ज बाग दिखाती है, लेकिन सत्ता में आने के बाद जब उन्हें पूरा करने की बारी आती है तो ...... 18% मुस्लिम आरक्षण की मिसाल आपके सामने है। मजहबी रहनुमा भी इन ही की हिमायत करते नज़र आते हैं.

हर बार की तरह आगामी विधानसभा चुनाव में भी कुछ ऐसी ही सूरतेहाल होगी। कुछ दिन पहले ये कथित रहनुमा निकलेंगे और मुस्लिम वोटों पर सियासत करेंगे और फिर रोपोश हो जाएंगे।
अभी चुनावोँ में काफी वक़्त है, अगर अबतक ये तय नहीं किया है कि हमारा वोट अबकी बार किसको पड़ना है तो तय कर लीजिय अब भी समय है। एक हिकमतअमली बनाईये और तमाम मुस्लिम वोटोँ को इकट्ठा कीजिये। अगर आप ने ये तय किया है कि अबकी आपका वोट किसी मुस्लिम पार्टी को जाएगा तो बेहिचक उसी पर कायम रहिये भले ही शोर हो कि उस उम्मीदवार की ज़मानत भी ज़ब्त हो जायेगी।



आपके इन वोटों से और उम्मीदवारों की हार जीत तय होगी और उन पार्टियों को आपकी कीमत का एहसास होगा जिन्होंने आपसे वादे करके पुरे नहीं किये। आपस मेँ खुद ही मुहिम चलाईए, और अपने कीमती वोटोँ को अबकी बिखरने से बचाइये.

अभी बहुत वक़्त है, एक दुसरे से मुहिम के तहत जुड़िये, आगे बढ़िये और सबक सिखा दीजिये उन पार्टियों को भी जिन्होंने आपसे किये वादे पुरे नहीं किये, छल किया आपके साथ, जो आपको वोट बैंक के सिवा कुछ भी नहीं समझते। एलर्ट हो जाइये अभी से आगामी चुनाव आपके लिए एक सुनहरा मौका है। दिखा दीजिए अपना दम, पर इसके लिए आपको करना होगा अवाम के बीच अवाम को जोड़ने के लिए आपको खुद ही उतरना होगा.
Ahle Tanda