कोरा और साफसुथरा कफ़न, 150 वर्ष बाद भी ताजा निकली "गुलाब शाहा बाबा" की कब्र


तारिक तबानी
अकोला, अवैध रूप से निर्माण किये गए धार्मिक स्थलों को मा. सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर जमीनदोस्त किया जा रहा है. देशभर में यह अभियान जारी है जिसमे हजारो धार्मिक स्थलों को जमीनदोस्त किया गया और आगे भी कारवाई शुरू है. यह कारवाई महाराष्ट्र के जिला अकोला में भी शुरू की गयी जिसमे राज लाल प्लांट रोड पर स्थित महापुरुष संत गुलाब शाह बाबा की 150 वर्ष पुरानी कब्र को भी शहीद किया गया. दरगाह के तोड़ने के बाद जमीन खोदी जा रही थी उस वक्त एक कब्र मिली जो गुलाब शाह बाबा की है 



और 150 वर्ष पहले वह वहां दफन थे लोगो ने देखा की उनकी कब्र ऐसी थी मानो आज ही दफन की गयी हो, कफ़न पर दाग, ना कोई गन्दगी और ना ही मिटटी. इस आश्चर्यजनक वारदात को देखते हुए शहर के सभी धर्म के लोगो की भीड़ यह माजरा देखने के लिए जमा हुई और यह खबर आग की तरह फ़ैल गयी. (साप्ताहिक रंगरेज की आवाज से साभार)
यह भी पढ़े