अनुसूचित जाती के दो युवको को ज़िंदा जलाया गया, हालात नाजुक




गोरखपुर। चौरीचौरा इलाके से कुछ कि‍मी दूर सोमवार की रात आधा दर्जन बदमाशों ने दो युवकों को पेट्रोल डालकर जलाने का प्रयास कि‍या। गंभीर रूप से जले दोनों युवकों को इलाज के लिए डॉक्टरों ने पीजीआई लखनऊ रेफर कर दिया। उसकी फैमि‍ली वालों का आरोप है कि प्रधान की चुनावी रंजिश में इस घटना को अंजाम दि‍या गया है। दरअसल, पूर्व प्रधान राजदेव पासवान की पत्नी रूपा देवी गांव की पूर्व प्रधान हैं। इस बार प्रधान के चुनाव में गांव के ही राधेश्याम मौर्या की पत्नी मुन्नी देवी को विजय मिली है। पूर्व प्रधान राजदेव पासवान का गांव के करीब ही आरसीसी पाइप की फैक्टरी है। 



राजदेव पासवान और कमल पासवान की मौसी का बेटा संतोष पासवान (30) वर्ष पुत्र प्रहलाद पासवान निवासी भैंसही बुजुर्ग, कौड़ीराम थाना बांसगांव, गोरखपुर बचपन से ही राजदेव के घर रहता है। संतोष पासवान रोज की तरह सोमवार की रात फैक्ट्री के आफिस के बरामदे में गांव के ही अपने सहयोगी नर्मदा पासवान (30) के साथ सो रहा था। सोमवार रात 12 बजे के बाद करीब आधा दर्जन बदमाश वहां बाइक से पहुंचे। उन्‍होंने दोनों के ऊपर पेट्रोल फेंक दिया। पेट्रोल फेंकते ही दोनों की नींद टूट गई और वे उठ खड़े हुए। इससे पहले कि वे मामले को समझ पाते बदमाशों ने माचिस की तीलियां जलाकर उनपर फेंक दी। दोनों पल भर में ही आग का गोला बन गए। दोनों के शोर मचाने पर अन्य ग्रामीण और परिजन पहुंचे। आग पर काबू कर दोनों को इलाज के लिए बीआरडी मेडिकल कॉलेज पहुंचाया। युवकों की हालत की गंभीरता को देखते हुए डॉक्टरों ने उन्हें पीजीआई लखनऊ रेफर कर दिया।
(गोरखपुरटाइम्स डॉट कॉम से साभार)