नांदेडः जुआ, मटका, क्लब जैसे अवैध धंदे तुरंत बंद किये जाए - पसमांदा फ्रंट की मांग

नांदेड, नांदेड में शहर के साथ-साथ जिलाभर में अवैध धंदे तेजी से चल रहे है. गैरकानूनी धन्दों  पर रोक लगाने की मांग की जा रही है. नांदेड के इतवार पुलिस थाणे के इलाके में कल्याण मुंबई मटका, जुआ, क्लब जैसे गैरकानूनी धंदे जोरो से चलाये जा रहे है. ऐसा माना जा रहा है की, पुलिस की मिलीभगत से यह गैरकानूनी धंदे चलाये जा रहे है. चूँकि चलाये जाने वाले धंदे खुलेआम शुरू है. गैरकानूनी माफियाओं को किसी का डर ना किसीका खौफ दिखाई दे रहा है. मटके की बकिया तो सारेआम खुली है जैसे राशन के शोरुम हो, रात-रात भर क्लब, जुआ का बाजार भरा रहता है. इसपर पुलिस की अनदेखी के कारण पसमांदा फ्रंट के जिलाध्यक्ष ने इतवारा पुलिस को एक आवेदन देकर कहा की, दो दिन में अगर गैरकानूनी धंदे बंद नहीं किये गए तो वह लोकशाही मार्ग से जिलाधिकारी कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन करेंगे. पसमांदा फ्रंट इस सामाजिक गैरराजनीतिक संग्रहण को और भी कई संगठनो ने समर्थन दिया है. तात्काल गैरकानूनी धंदे बंद नहीं किये गए तो ऐसी सूरत में हजारो महिलाए भी रास्तो पर उतरने की संभावना जताई जा रही है.



गौरतलब है की, सरकार ने ऐसे बर्बादी वाले धंदे पर कानूनन रोक लगाई है. रोक लगाने का उद्देश्य यह है की, गरीब, पिछड़े लोगो के संसार उध्वस्त ना हो. लेकिन यहाँ खुलेआम गैरकानूनी धंदे चलाये जाते है. यह धंदे जिनकी भी दुआओं से चलते है इसका सीधा मतलब है की, गैरकानूनी धंदे चलाने वालो को सहारा देने वाले लोग गरीब, मजलूम, पिछडो को अपने संसार से उठाना चाहते है. इतिहास अगर देखा जाए तो कई राजा महाराजाओ को जुआ जैसे खेल के कारण अपना राज्य गंवाना पडा. फिर गरीबो को अपनी जिन्दगिया गंवाने को समय नहीं लगेगा. आवेदन में गरीबो के संसार उध्वस्त होने से बचाने की विनंती भी की गयी है.