क्या इस्त्रईली संगठन ईसिस से प्रभावित था गला काटने वाला अशोक मिश्रा ?

दो दिन से सोशल मीडिया पर एक वारदात के बारे में चर्चा शुरू है. यूपी के मैनपुरी गाँव में एक दंपत्ति की गला काटकर बेरहमी से हात्या कर दी गयी है. हात्या महज 15 रुपये का बकाया ना चुकाने को लेकर हुई है. सोशल मीडिया पर चर्चा है की, यह हात्या 15 रुपये के लिए नहीं बल्कि जातीयवाद के चलते की गयी है. इतनी बेरहमी से क़त्ल करना और वह भी कमजोर उम्रदराज बेगुनाहों का क़त्ल करना निर्दयता की साड़ी हदों को तोड़ता है. इस वारदात को अंजाम देने वाला कातिल कोई मामूली कातिल नहीं हो सकता कहीं इस्त्रईली आतंकवादी संगठन से तो यह प्रभावित नहीं था इस तरह की शंका जताई जा रही है.  हात्यारे का नाम अशोक मिश्रा बताया जा रहा है. अधिक जानकारी पुलिस जांच के बाद ही सामने आ सकेगी....


मैनपुरी (उप्र). महज 15 रुपए के लिए यहां गुरुवार को एक दलित कपल की कुल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी गई। घटना के पीछे उधार का पैसा वजह बताई गई है। पुलिस ने आरोपी को अरेस्ट कर लिया है। गांव में तनाव फैलने के चलते पुलिस और पीएसी तैनात की गई है। बिस्किट का पैकेट खरीदने आया था शख्स.बताया जा रहा कि आरोपी अशोक मिश्रा की गांव में ही दुकान है।
- भारत नाम का शख्स उसकी दुकान से बिस्किट का पैकेट खरीदने गया था।
- अशोक के कुछ रुपए पहले से ही भारत पर उधार थे, जिसे लेकर दोनों के बीच झगड़ा
हुआ।


- गुस्से में आकर अशोक ने भारत पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया।
- इसके बाद पति को बचाने सामने आई ममता पर भी अशोक ने वार किया। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। आरोपी अरेस्ट, कुल्हाड़ी बरामद - घटना के बाद आरोपी अशोक, महेश नाम के एक शख्स के घर की छत पर छिप गया।
- इन्फॉर्मेशन मिलने पर पुलिस ने उसे वहां से अरेस्ट कर लिया।
- पुलिस ने कुल्हाड़ी को भी बरामद कर लिया है।
- घटना के चलते पूरे गांव में तनाव फैल गया है। पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है। किसी तरह गुजर-बसर कर रहा था कपल - गांव के लोगों का कहना है कि कपल गरीबी के चलते उधार रुपए और खाने-पीने की चीजें मांग कर गुजर-बसर कर रहा था। कपल के पांच बच्चे भी हैं।