दंगे भड़काने वाली साजिशो की शुरुआत, शायद कही चुनाव है.

दंगे भड़काने वाली साजिशो की शुरुआत, शायद कही चुनाव है.

पोस्ट को शुरू करने से पहले कह रहा हूँ, लाइक न करें, लेकिन शेयर हर हाल में करें...।
आरएसएस की दंगा कराने की साज़िश को नाकाम बनाने के लिए उत्तर प्रदेश के सीएम और पार्टी के नेताओं को पोस्ट भेजें...।

प्याला नुमा यह जो तस्वीर आप देख रहे हैं, ये फ़रमान-ए-इलाही और मुसलमानों की मुक़द्दस किताब कुरआन है...। जिसके आरएसएस ने अपनी साज़िश के तहत पियाले बनाए और सड़कों पर इसमें गोलगप्पे और चाट अभी भी बेंच रहे थे...। वो भी खुले आम...। 

ये घटना अभी थोड़ी देर पहले की है... वह भी मुलायम सिंह यादव के सनसदनीय सीट आज़मगढ़ के मुबारकपुर शहर की...। जहां पर संघियों ने खुले आम दंगा कराने की पूरी साज़िश की है...। ऐसी घटनाओं से देश की गंगा जमुनी तहज़ीब को तार तार करने की साज़िश की जा रही है...।

उत्तर प्रदेश सीएम अखिलेश यादव से निवेदन है...। घटना स्थल पर स्पेशल फ़ोर्स भेजें...। जो हालात को अपने काबू में कर लें...। आरोपियों को जल्द से जल्द हिरासत में लेकर शहर जलने से बचाएं...। क्योंकि इसके परिणाम भयानक और बहुत भयानक हो सकते हैं...।

इस पोस्ट को शेयर करने के लिए यह ज़रूरी नही की आप मुसलमान ही हों...। इंसानियत आपको ऐसा करने के लिए ज़रूर उकसाएगी...।

" इस तरह देश के दुश्मनों के साजिश में ना आये और ना ही इन्हें प्रतिक्रिया दे, अगर आप क्रिया पर प्रतिक्रया देंगे तो वह लोग जो दंगे कराने की फिराक में है उनका प्लान कामयाब हो जाएगा. ऐसी किसी भी घटना की जानकारी पुलिस को दें, और न्यायालयों पर विशवास करे एवं जज्बात के बहाव में न बहे, अफवाओ का पीछा ना करे, धन्यवाद - संपादक"
( naeem akhtar इनकी वाल से साभार)